Sunday, 13 May 2018

राधे श्याम (राधा तिवारी ' राधेगोपाल ')

राधे श्याम
Image result for राधा सीता
अगर तू श्याम बन जाए
तेरी राधा बनूंगी मैं
अगर तू राम बन जाए
तो सीता सी सजुंगी मैं

 तेरी पलकों के साए में
 मुझे रहने दे पल पल पल
तेरी बेचैन रातों में
हँसी  निंदिया  बनूंगी मैं

 मुझे अनजान से दिखते
हैं ये गलियां ये चौबारे
 कदम के पेड़ के नीचे
 तुझे अपना कहूंगी मैं

 कहीं जीवन कहीं मृत्यु
कहीं मिलना बिछड़ना है
 कहीं पर तू जो मिल जाए
तुझे दुख सुख कहूंगी मैं

 कहीं खुशियों के सागर है
कहीं नदिया दिखे गम की
मगर जो खुद नहीं बदले
वही रिश्ता बनूंगी मैं

अगर तू श्याम बन जाए
तेरी राधा बनूंगी मैं
अगर तू राम बन जाए
 तो सीता सी सजुंगी मैं