Followers

Monday, 9 July 2018

बाल कविता " धरा में किरणें बिखराते हो"( राधा तिवारी "राधेगोपाल " )

 धरा में किरणें बिखराते हो
Image result for suraj ki kiran
 रवी तुम्हारा इंतजार ।
कर रहा सारा संसार।।

 लगते हो तुम सबको प्यारे।
 नभ मे हो तुम सबसे न्यारे।।

 आसमान में जब आते हो।
 धरा में किरणें बिखराते हो।।

 जो भी दर्श तुम्हारा पता ।
नई उर्जा तुमसे पाता ।।

पक्षी  कलरव करने लगते।
 इंसान तुमको देख कर जगते।।

 बीत गई अब काली रात।
 अब कर लो सब काम की बात।।