Friday, 6 July 2018

बाल कविता "कागज की नाव" ( राधा तिवारी "राधेगोपाल " )

कागज की  नाव
Image result for कागज़ की नाव
बारिश की रुत बड़ी सुहानी
 आसमान से बरसा पानी
 मेंढक टर्र टर्र टर्र चिल्लाए
 अपना अभिनव राग सुनाएं
 भरे हुए हैं ताल-तलैया
 मेंढक करते ता ता थैया
 भरे हुए हैं गड्डे नाली
 चारों ओर बिछी हरियाली
 कागज की एक नाव बनाओ
 गड्ढों में उसको तैराओ