Friday, 10 August 2018

दोहे "कृमि मुक्ति दिवस" (राधा तिवारी" राधेगोपाल ")

कृमि  मुक्ति दिवस
Image result for राष्ट्रीय कृमि दिवस
कृमि दिवस पर आज तो, करें कृमि की बात।
 कीड़े पहुंचाते सदा, इस तन को आघात।।

 हाथ सदा ही धोइए ,जब हो जाए काम
साफ रखो अपना सदा ,सुंदर सा यह चाम।।

 साबुन से ही धोइएहरदम अपने हाथ।
 हाथों में मत गंदगी ,रखना अपने साथ।।

 साफ सफाई से रहो ,हर पल हर दिन शाम।
 सौं के बाद तो धोइए, कर को तुम अभिराम।।

 कर लेना संकल्प अब, करें कृमि का नाश।
 खाए सब कृमि की दवा, तब दिन होगा खास ।।

 खाना खा कर लीजिए, कृमि हरण की डोज़।
 मर जाएंगे कीट सब, मुख में होगा ओज।।

 सुंदरता बन जाएगी, चेहरे पर हो ओज।

 लगन काम को सभी के, मन में होगी रोज।।
-